समय चक्र की मार

समय चक्र की मार वर्तमान में हो गया, बुरा सभी का हाल।समय चक्र की मार से, हुए सभी बेहाल।। दर-दर थे भटके सभी, मित्रों पिछले साल।समय चक्र की मार से, हुए सभी बेहाल।। विपदा का फिर आ गया, पुनः सामने काल।समय चक्र की मार से, हुए सभी
error: Content is protected !!