कितना सुरक्षित है बैंक लॉकर

0

कितना सुरक्षित है बैंक लॉकर।

कीमती गहने व आवश्यक दस्तावेजों को रखने के लिए बैंक लॉकर सबसे सुरक्षित स्थान माने जाते हैं। परंतु बैंक लॉकर में रखे गये सामान की जिम्मेदारी नहीं लेते बल्कि बैंक का कहना है कि लॉकर में रखे सामान की जिम्मेदारी स्वयं ग्राहक की होती है। बैंक में लॉकर के लिए एक हजार से दस साल सालाना फीस के रूप में चुकाने होते हैं फिर भी बैंक आपके सामान की कोई जिम्मेदारी नहीं लेते। ऐसे में सवाल उठता है कि इतनी फीस देने के बाद भी आपके कीमती सामान की जिम्मेदारी आपकी होती है तो अपने कीमती सामान को बैंक लॉकर में रखने से क्या फायदा।

चलिए जानते हैं कितना सुरक्षित है आपका बैंक लॉकर।

बैंक के पास होते हैं सुरक्षा के सभी इंतजाम

बेशक बैंक आपके सामान की सुरक्षा की जिम्मेदारी नहीं लेते फिर भी घर से ज्यादा बैंक लॉकर में आपका सामान सुरक्षित रहता है। घर में ज्यादा मात्रा में गोल्ड या डायमंड की ज्वेलरी होने पर घर में रखना समझदारी नहीं है, उसके लिए बैंक लॉकर ही सुरक्षित स्थान है। बैंकों के लॉकर मजबूत कमरों में होते हैं जहां हर किसी को आने की इजाजत नहीं होती, न हीं कोई व्यक्ति इन कमरों तक आसानी से पहुंच सकता है। लॉकर रूम में आने जाने वाले व्यक्ति पर कड़ी नजर रखी जाती है, प्रत्येक कमरे के गेट पर सिक्योरिटी गार्ड लगे होते हैं तथा हाई लेवल का इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस लगा होता है इसीलिए बैंक लॉकर में आपका सामान घर की अपेक्षा अधिक सुरक्षित रहता है।

ग्राहक को सुरक्षा के बारे में पूछने का पूर्ण अधिकार

बैंक समय समय पर अपने सिक्योरिटी व बुनियादी ढ़ांचे में बदलाव करते रहते हैं और अपडेट करते रहते हैं। ग्राहक का अधिकार है कि वह बैंक से उसके सिक्योरिटी के लिए उठाए गए कदम और बुनियादी ढांचे के बारे में सवाल पूछे। बैंक की यह जिम्मेदारी है कि वह आपके द्वारा पूछे गए सवाल का ठीक प्रकार से जवाब दें, अगर कोई बैंक सिक्योरिटी से संबंधित जवाब देने में आनाकानी करता है तो आप बैंक लॉकर लेने के लिए दूसरे बैंक का चुनाव कर सकते हैं।

कीमती सामान्य ज्वेलरी को आप बैंक लॉकर में रखें या घर पर परंतु सबसे जरूरी बात है अपने कीमती सामान का इंश्योरेंस अवश्य करवाएं। होम इंश्योरेंस करवाने के साथ ही ज्वेलरी का इंश्योरेंस भी कराया जा सकता है। इंश्योरेंस कंपनियां ज्वेलरी की कीमत के हिसाब से बीमा करती हैं, ऐसे में अगर आपका कीमती सामान चोरी या डैमेज होता है तो आपको वह सामान की कीमत इंश्योरेंस के तहत वापस मिल जाती है।

घर में रखें CCTV कैमरा

बहुत से लोग बैंक लॉकर लेना नहीं चाहते, वह घर की तिजोरी में ही सामान रखना पसंद करते हैं ऐसे में घर की तिजोरी खरीदते समय उसकी क्वालिटी अवश्य चेक कर लें, जिस कमरे में आपने तिजोरी रखी है उसमें गुप्त रुप से CCTV कैमरा लगा कर रख सकते हैंं। फिर भी घर में रखा कीमती सामान बैंक लॉकर की अपेक्षा अधिक सुरक्षित नहीं होता और घर में रखे सामान के प्रति अधिक सतर्क और सजग रहने की आवश्यकता होती है, ऐसे में किसी पर भरोसा करना भी समझदारी नहीं होती क्योंकि अधिक पैसे और गहने देखकर उसकी नियत खराब हो जाए इसकी जिम्मेदारी कोई नहीं ले सकता, इसीलिए कीमती सामान के लिए बैंक लॉकर भी सुरक्षित जगह है।

ऐसा नहीं है कि बैंक लॉकर लेने पर आपकी जिम्मेदारी पूरी तरह समाप्त हो जाती है, समय समय पर बैंक लॉकर में रखे कीमती सामान की देखभाल और सर्वेक्षण करना आवश्यक है। किसी संदेह की स्थिति में आप बैंक को आगाह भी कर सकते हैं, बैंक लॉकर आप उस बैंक में भी ले सकते हैं जहां आपका कोई सेविंग अकाउंट नहीं है परंतु उसके लिए आपको बैंक में एक निश्चित राशि एफडी करनी होगी, इसकी राशि लॉकर के साइज पर निर्भर करती है। साथ ही अलग-अलग बैंकों की एफडी की राशि अलग-अलग होती है।

सुरक्षा के लिए आप भी रहें सतर्क

बैंक लॉकर में रखे सामान की सुरक्षा के लिए बैंक के साथ-साथ आप का सतर्क रहना भी आवश्यक है। लॉकर में रखे सामान की डिटेल लिखकर उसकी एक कॉपी घर में और एक कॉपी लॉकर में रखें। लॉकर में रखे डॉक्यूमेंट्स को लेमिनेट करके रखें, लॉकर खोलते समय इस बात का ध्यान रखें कि आपके आसपास कोई ना हो और लॉकर कितनी बार खोला और बंद किया गया है इसकी भी जानकारी रखें। लॉकर बंद करते समय एक बात सुनिश्चित कर लें कि आपने लॉकर ठीक से बंद किया है कि नहीं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Powered By Indic IME
error: Content is protected !!