डॉ. नील रतन अग्रवाल ने ‘द इंटरनेशनल ब्रेक-थ्रू रिसर्च अवार्ड’ प्राप्त किया।

डॉ. नील रतन अग्रवाल ने अपने शोध “एन् एट्टेम्प्ट् टो  ऱेवेर्से बिओ-एन्जिनेअर् आस्त्मा बाई होम्योपैथिक टिंचर्स ” (“An Attempt to Reverse Bio-engineer Asthma By Homeopathic Tinctures”)  के लिए ‘द इंटरनेशनल ब्रेक-थ्रू रिसर्च अवार्ड’ (‘The International Break-through Research Award’) प्राप्त किया।

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित डॉ. नील रतन अग्रवाल को होम्योपैथिक टिंचर्स द्वारा अस्थमा उपचार और रोकथाम पर इंटरनेशनल जर्नल में अपने शोध प्रकाशन के लिए ‘द इंटरनेशनल ब्रेक-थ्रू रिसर्च अवार्ड’ मिला, जिसे ऑक्सफोर्ड रिसर्च न्यूज ने भी स्वीकार किया है। और रिसर्च ब्यूरो वेरिटास ने उन्हें उस शोध के लिए प्रमाणित शोधकर्ता के रूप में प्रमाणित किया है।

अस्थमा पर उनके व्यापक शोध को अंतर्राष्ट्रीय अनुसंधान समुदाय द्वारा स्वीकार किया गया है और होम्योपैथिक टिंचर का उपयोग करके वैज्ञानिक अनुसंधान और उपचार के एक नए तरीके के द्वार खोल दिए हैं।

उन्हें पद्म श्री पुरस्कार 2022 के लिए भी नामांकित किया गया है। विश्व अनुसंधान परिषद उन्हें मानद आजीवन सदस्यता से सम्मानित कर रही है। उन्हें ‘इंटरनेशनल आईएसएसएन अवार्ड्स’ द्वारा ‘द इंटरनेशनल बेस्ट रिसर्चर अवार्ड’ से सम्मानित किया गया है और ‘रिसर्च ब्यूरो वेरिटास’ द्वारा ‘कोरोनावायरस के लिए होम्योपैथिक ट्रीटमेंट प्रोटोकॉल’ में उनकी सफलतापूर्वक प्रकाशित शोध पांडुलिपि के लिए ‘प्रमाणित शोधकर्ता’ से भी सम्मानित किया गया है। ‘द इंटरनेशनल जर्नल ऑफ एडवांस्ड रिसर्च, आइडियाज एंड इनोवेशन इन टेक्नोलॉजी’ में ‘कोरोनावायरस के लिए होम्योपैथिक उपचार प्रोटोकॉल’ प्रकाशित हुआ है। “कोरोना वायरस के लिए होम्योपैथिक उपचार प्रोटोकॉल” पर उनका शोध कार्य ‘इंटरनेशनल जर्नल ऑफ साइंटिफिक रिसर्च इन इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट’ में भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रकाशित हुआ है। उन्हें ‘वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ होम्योपैथी’ द्वारा ‘COVID-19 जागरूकता और समाज कल्याण’ के लिए ‘उत्कृष्टता पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया है।


डॉ नील रतन अग्रवाल BHMS (Calcutta University), DBMS, MD (Bio), PGDPC, MS (Psycho), Graphotherapy & NLP (USA)

डॉ नील रतन अग्रवाल BHMS (Calcutta University), DBMS, MD (Bio), PGDPC, MS (Psycho), Graphotherapy & NLP (USA)। एक परोपकारी और दयालु डॉक्टर के रूप में डॉ. नील रतन लोगों को कई गंभीर बीमारियों से पीड़ित होने पर् उन्हें स्वस्थ जीवन का उपहार देने में मदद और इलाज कर रहे हैं। वह होम्योपैथिक सिद्धांतों के अनुसार जड़ी-बूटियों के सक्रिय अवयवों का उपयोग करके उपचार प्रोटोकॉल पर शोध कर रहे हैं। वह प्रमुख होम्योपैथ के परिवार में तीसरी पीढ़ी हैं। वह 2005 से आधुनिक होम्योपैथी का अभ्यास कर रहे हैं। आज उनका शोध किसी एक देश तक सीमित नहीं है बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसकी सराहना की जा रही है।

Dr Neal Ratan Agarwala on MeriRai : https://www.merirai.com/author/dr-neel-ratan-agarwala/

Dr Neal Ratan Agarwala on Google:  https://g.page/dr-neal-ratan-agarwala?gm

Dr Neal Ratan on Facebook :https://www.facebook.com/nealratan

Contact no: +91-9231598225

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

error: Content is protected !!