बच्चो के लिए श्रीभगवादगीता कोर्स

अंतर्राष्ट्रीय कृष्णभावनामृत संघ या इस्कॉन का मंगलौर मंदिर बच्चों के लिए श्रीमद भगवद गीता का आयोजन करने जा रहा है |

इस्कॉन को International Society for Krishna Consciousness – ISKCON और “हरे कृष्ण आन्दोलन” के नाम से भी जाना जाता है। इसे १९६६ में न्यूयॉर्क नगर में भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद ने प्रारंभ किया था। देश-विदेश में इसके अनेक मंदिर और विद्यालय है।

आमतौर पर गीता के बारे में माना जाता है की यह सिर्फ बड़े लोगो या सीनियर सिटीजन के लिए ही है | पर कर्मयोग पर श्रीकृष्ण और अर्जुन के संवाद किसी भी व्यक्ति के लिए उपयोगी साबित हो सकते है |

आजकल बच्चो में भी डिप्रेशन, कुंठित मानसिकता, चिंता, विपक्षी दोष विकार, आचरण विकार, ध्यान-कमी / सक्रियता विकार (ADHD), टॉरेट सिंड्रोम, जुनूनी-बाध्यकारी विकार (OCD), अभिघातजन्य तनाव विकार (PTSD) काफी पाया जा
रहा है | श्रीमद भगवद गीता से इनमे काफी लाभ हो सकता है और बच्चो की मेन्टल हेल्थ में सुधार आ सकता है |

05 अप्रैल से शुरू हो रहा है बच्चो के लिए 18 दिन का श्रीभगवादगीता कोर्स “

दुनिया के सबसे बड़े ऑनलाइन गीता कोर्स में शामिल होने का सुनहरा अवसर , आप वेबसाइट https://t.ly/gita पर रजिस्टर करे:

  1. नि: शुल्क प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा।
  2. प्रति दिन 1 घंटा – ऑनलाइन लाइव सत्र + प्रश्न और उनके समाधान
  3. ईबुक प्रारूप में अध्ययन सामग्री प्रदान की जाएगी
  4. भाषा – हिंदी
  5. समय 6am / 3:30pm/ 5pm/ 9pm
  6. कोर्स के बारे में अधिक जानकारी के लिए https://t.ly/faqs

अधिक जानकारी के लिए www.iskconmangaluru.com पर सम्पर्क करें|

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

error: Content is protected !!