बच्चों के लिए निवेश की पांच बेहतरीन योजनाएं

बच्चों के लिए निवेश की पांच बेहतरीन योजनाएं। सभी माता-पिता अपने बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं जोकि अपनी कोशिशों से बच्चों का भविष्य सुरक्षित करना चाहते हैं। लगातार महंगी होती शिक्षा माता-पिता की परेशानी को दोगुना कर देती है…

जीका वायरस और मंकी वायरस ने दी भारत में दस्तक

जीका वायरस और मंकी वायरस ने दी भारत में दस्तक। भारत कई सालों से स्वाइन फ्लू और वर्ड फ्लू की चपेट में रहा है परंतु अब जीका वायरस व मंकी फीवर भी भारत में प्रवेश कर चुके हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अहमदाबाद में जीका वायरस से जुड़े तीन…

3 सालों में मोदी से कितना खुश हुए लोग

3 सालों में मोदी से कितना खुश हुए लोग देश में भाजपा की सरकार बने 3 साल हो गए हैं मोदी सरकार की लोकप्रियता तो इसी बात से झलकती है कि लोग अब भाजपा की सरकार नहीं मोदी की सरकार कहकर संबोधित करते हैं। भाजपा की सरकार से पहले केंद्र में…

मां बनने में अब उम्र कोई बाधा नहीं एग फ्रीजिंग से राह हुई आसान

मां बनने में अब उम्र कोई बाधा नहीं एग फ्रीजिंग से राह हुई आसान आज महिलाएं पढ़ाई में कैरियर के चलते न केवल सा शादी देर से कर रही है बल्कि वह बच्चा भी देर से पैदा करना चाहती हैं ऐसा माना जाता है कि 40 साल की उम्र तक आते-आते महिलाओं में…

मन और तन की शांति का साधन है- योग

योग शब्द की उत्पत्ति संस्कृत शब्द "यजु" से हुई है जिसका अर्थ है- जोड़ना।। योग उस पद्धति को कहते हैं जो व्यक्ति को अपने आप में बांधें रखता है। यम, नियम, आसन, प्राणायाम, प्रत्याहार, धारणा, ध्यान और समाधि को स्वयं में समेटे हुए योग ऊर्जा का…

समाज में बढ़ते तलाक की वजह

भारतीय समाज में पति पत्नी का रिश्ता बहुत ही पवित्र रिश्ता माना जाता है जो तदो परिवारों को जोड़ने की कड़ी होता है। पति पत्नी दोनों ही एक-दूसरे के पूरक होते है पति पत्नी के रिश्ते से खूबसूरत कोई रिश्ता नहीं होता अगर रिश्ते में मिठास हो और…

पाकिस्तान से बदला लेना जरूरी

भारतीय समाज में परिवार की बहुत अहमियत होती है। मां-बाप, भाई-बहन या भाई-भाई मैं आपस में प्रेम व सम्मान का रिश्ता होता है तभी परिवार में सुख शांति बनी रहती है लेकिन जब छोटा भाई बड़े भाई का सम्मान ना करें और विद्रोह पर उतर आए तो पहले उसे प्यार…

ऑनलाइन शॉपिंग करते समय बरतें सावधानी।

पिछले 5-7 सालों में ऑनलाइन शॉपिंग में लोगों की दिलचस्पी काफी बड़ी है। ऑनलाइन शॉपिंग में किसी वेबसाइट या किसी ग्रुप से कोई सामान या सर्विस खरीदी जाती है। ऑनलाइन शॉपिंग में आप घर बैठे ही मोबाइल, लैपटॉप या कंप्यूटर के द्वारा किसी वस्तु को खरीद…

जीएसटी क्या है? जीएसटी से क्या सस्ता क्या महंगा

जीएसटी (गुड्स एवं सर्विस टैक्स) जो कि एक अप्रत्यक्ष कर है जीएसटी इस समय देश का चर्चित मुद्दा है क्योंकि जीएसटी को 1 जुलाई से लागू किया जाना है। जीएसटी के तरत वस्तुओं और सेवाओं पर समान रुप से टैक्स लगता है जीएसटी से पूरा देश एकीकृत बाजार में…

हिंदी की दुर्दशा के लिए कौन जिम्मेदार।

हिंदी भारत की राजभाषा है। राजभाषा किसी भी संघ या राज्य द्वारा अपने सरकारी कामकाज के लिए स्वीकार की गई भाषा होती है। राजभाषा देश के अधिकांश लोगों द्वारा बोली और समझी जाती है राजभाषा किसी प्रदेश में एक से अधिक भी हो सकती है प्रांतीय भाषाओं के…

महिलाएं अपने अधिकारों के प्रति जागरुक हो

प्राचीन काल से ही भारतीय समाज में महिलाओं की स्थिति संतोषजनक नहीं रही है। पुरुष सत्तात्मक समाज हमेशा से महिलाओं को केवल भोग विलास की वस्तु समझता आया है और महिलाओं को घर में चारदीवारी तक रखना ही अपना बड़प्पन समझा जाता है। हालांकि लोगों में…

कुछ कहने को तो है मेरे पास भी…

कुछ कहने को तो है मेरे पास भी… कुछ कहने को तो है मेरे पास भी… पर कोई सुनने वाला नहीं मिला… सोचे शायद कोई अजनबी ही हाले दिल सुन लेग लहरों का शोर इतना बढ़ गया... की खामोशियों से नाता टूटता चला गया... किसी के साथ ऑडी में पेट्रोल…

नोटबंदी के बाद से अब विद्वानों को धनीजनों से किनारा कर लेना चाहिए

नोटबंदी के बाद से अब विद्वानों को धनीजनों से किनारा कर लेना चाहिए  विद्वान जन जो बहुत ही पढाई-लिखाई में बहुत ही तेज-तरार हुआ करते थे। वे 1950 से लेकर 1992 तक किसी धनीजन के साथ नहीं उठा-बैठा किया करते थे। तब समाजवाद था, समाजवाद में हर…

|| प्रेमी की भक्ति – यक्ष प्रश्नोत्तर।।

|| प्रेमी की भक्ति - यक्ष प्रश्नोत्तर।। भगवान् में गहरी आस्था रखने वाले एक भक्त को प्यार हो जाता है और अपनी प्रेमिका के प्रेम में भाव विह्वल होने के कारण दुनियादारी से सुध-बुध खो देता है । दिन रात उसके दिल-ओ-दिमाग में सिर्फ उसकी…

[कविता] मैंने बहुत याद किया – बृजेश यादव

एक प्रेमी युगल की काफी दिन के बाद बात हुई...तो प्रेमिका ने प्रेमी से पूछा क्या किया इतने दिन??? तो प्रेमी ने अपना हाल किस तरह वयां किया...पढ़िएे मित्रों.... उसने मुझसे पूछा कि क्या किया इतने दिन? मैंने…

बजट २०१७ का अर्थव्यस्था पर असर

बजट २०१७ का अर्थव्यस्था पर असर वित्तीय वर्ष २०१७-२०१८ के लिए जब वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली ने बजट पेश किया तो सबसे ज़्यादा देश की आर्थिक राजधानी मुम्बई की नज़र उन पर लगी थी | और बजट अभिभाषण के बाद यह कहा जा सकता है कि बजट आशावादी तो है…

बजट २०१७ उम्मीदों पर कितना खरा उतरा ?

बजट २०१७ उम्मीदों पर कितना खरा उतरा ? आज के राजनितिक परिवेश में सरकार का कोई भी निर्णय उम्मीदों के मापदंड पर केवल एक ही तरह से तौला जाता है कि आप किस दल के समर्थक हैं , यदि आप सत्ताधारी दल के समर्थक हैं तो बजट आपको बहुत बेहतर और ऐतिहासिक…

क्या और क्यों भारत में मुद्दे अंग्रेजी मीडिया ही तय करती है ?

भारत जैसे अद्भुत देश में मीडिया एक अहम किरदार निभाता है क्योंकि इस विशाल देश के हर कोने में हर क्षण कुछ न कुछ घटित होता है. चाहे कोई नई उपलब्धि हो या कोई राजनीतिक घटना , एक मीडिया ही है जो हमें उससे सम्बंधित जानकारी पहुंचाती है. इस…

भारत में पत्रकारिता का गिरता स्तर

यह बात बिलकुल सत्य है कि एक पत्रकार और उसकी पत्रकारिता अपनी कठिन मेहनत से समाज में घटित हो रही घटना से हमें रूबरू करवाते है. माध्यम बेशक टलीविजन पर दिखाई जाने वाली खबरें हो या आपके हाथों में आने वाला रोज का अखबार और आज तो हमें ज्यादातर…

चार पंक्तिया

हमने चार पंख्तियाँ क्या लिख दीं लोगों ने कवि बना दिया भरे बजार में हाले-दिल का तमाशा बना दिया घर से निकले तो थे कि तुझे भुला देंगे लिख लिख कर दिल से यादों को मिटा देंगे पर आशिकों के इस बाजार ने तेरी यादॊं को हि बाजारू बना दिया…
Powered By Indic IME
error: Content is protected !!